US में राहुल से सवाल करने पर महिला को रोका, बोली- ये फ्री स्पीच कैसे हुई?

0
157
views

राहुल ने कहा, मैंने हिंसा के चलते अपने पिता को खोया, अपनी दादी को खोया। अगर ये सब मैं नहीं समझूंगा तो कौन समझेगा?

कैलिफोर्निया.राहुल गांधी का मंगलवार को बर्कले यूनिवर्सिटी में प्रोग्राम था। इस दौरान मॉडरेटर्स ने ऑडियंस में बैठी एक महिला को सवाल पूछने से रोक दिया। इस पर महिला ने कहा, “जब सब कुछ कंट्रोल हो रहा है तो इसे फ्री स्पीच कैसे कहा जा सकता है?” राहुल ने कहा, “बीजेपी एक मशीन की तरह है। करीब एक हजार लोग कंप्यूटर पर बैठे रहते हैं। वो आपको मेरे बारे में बताएंगे। ये (बीजेपी) एक खास तरह की मशीन है। वो पूरे दिन मेरे बारे में गलत प्रचार करती है। ये सब उस शख्स के इशारे पर हो रहा है जो देश चला रहा है।” बता दें कि राहुल 2 हफ्ते के अमेरिका दौरे पर गए हुए हैं। मैं हिंसा नहीं समझूंगा तो कौन समझेगा…
– न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक राहुल ने कहा, “मैंने हिंसा के चलते अपने पिता को खोया, अपनी दादी को खोया। अगर ये सब मैं नहीं समझूंगा तो कौन समझेगा?”
– “मोदी ने राइट टू इन्फॉर्मेशन (आरटीआई) को खत्म कर दिया है। हमने जब ट्रांसपेरेंसी बढ़ाने की बात की तो हमें परेशानियों का सामना करना पड़ा।”
– “कांग्रेस अपनी पॉलिसीज और विजन को बातचीत से तय करती है, उसे वह थोपती नहीं है।”
– 1984 के दंगापीड़ितों के मसले पर राहुल ने कहा, “मैं उनके साथ हूं। उनके हक के लिए लड़ता रहूंगा। किसी के भी खिलाफ हुई हिंसा की मैं कठोर निंदा करता हूं।”
– “नफरत, गुस्सा और हिंसा हमें खत्म कर सकती है। पॉलिटिक्स का पोलराइजेशन (ध्रुवीकरण) खतरनाक है।”
– “अहिंसा का विचार खत्म होता जा रहा है, जबकि इसके जरिए ही मानवता को आगे ले जाया जा सकता है।”
नोटबंदी के लिए किसी से कुछ नहीं पूछा गया
– राहुल ने कहा कि सरकार ने नोटबंदी जैसे फैसले के लिए न तो चीफ इकोनॉमिक एडवाइजर से सलाह ली और न ही संसद को कुछ बताया। इसके चलते देश का काफी नुकसान हुआ।
– “छोटे और मझोले व्यापारी भारत की आर्थिक तरक्की की रीढ़ हैं। भारत को छोड़कर इतिहास में ऐसा किसी देश में नहीं हुआ जहां लोगों को गरीबी से बाहर निकाला गया हो।”
– “इंदिरा गांधी से एक बार पूछा गया कि भारत को कहां ले जाना चाहिए- लेफ्ट या राइट, उन्होंने कहा- देश को सीधा और लंबा खड़ा होना चाहिए।”
लोगों से बात न करने का खामिजाया भुगता
– राहुल ने कहा, “2012 के आसपास कांग्रेस पार्टी में घमंड आ गया और हमने लोगों से बात करना बंद कर दिया।”
– “भारत में ज्यादातर वंशवाद चल रहा है। आप इसमें अखिलेश यादव, एमके स्टालिन, प्रेम कुमार धूमल के बेटे, अभिषेक बच्चन और मुकेश अंबानी का नाम ले सकते हैं। मैं चाहता हूं कि कांग्रेस में मेरे बाद ऐसा न हो।”
– “कांग्रेस के शासनकाल की शुरुआत में कश्मीर में आतंकवाद बढ़ रहा था, लेकिन जब हमारा टेन्योर खत्म हो रहा था तो वहां शांति कायम हो गई। अब फिर से कश्मीर आतंकवाद की चपेट में है।”
– “पीएम मोदी ने कश्मीर में आतंकियों को जगह दी है। वहां तेजी से हिंसा बढ़ी है।”
– “मोदी में कुछ खास स्किल्स हैं, वो एक अच्छे कम्युनिकेटर है और इस मामले में मुझसे बेहतर हैं। उन्हें पता है कि लोगों तक किस तरह संदेश पहुंचाना है।”
– “मोदी अपने साथ काम कर रहे लोगों, अपने सांसदों से बात नहीं करते। ये बात मुझे खुद बीजेपी के लोगों ने बताई है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here