साध्‍वी यौन शोषण केस में गुरमीत दोषी करार, कोर्ट से सीधे जाएंगे जेल, 28 को सजा का ऐलान

0
40
views

सुरक्षा व्‍यवस्‍था की समीक्षा करते हुए शुक्रवार को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने कहा कि दोनों राज्‍यों में किसी भी कीमत पर शांति भंग नहीं होनी चाहिए.

चंडीगढ़ : साल 2002 के दो साध्‍वियों के यौन शोषण मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को सीबीआई की विशेष अदालत ने दोषी करार दिया है. विशेष अदालत ने दोपहर करीब ढाई बजे राम रहीम पर 15 साल पुराने यौन शोषण के आरोपो को सही पाया. राम रहीम की सजा का ऐलान 28 अगस्‍त को किया जाएगा. फैसले के बाद किसी भी तरह की अप्रिय घटना घटित न हो इसके लिए पहले से ही हरियाणा और पंजाब में सुरक्षा के पुख्‍ता बंदोबस्‍त किए गए हैं. पंजाब- हरियाणा हाईकोर्ट प्रशासन को पहले ही आदेश दे चुका है कि किसी भी कीमत पर शांति भंग नहीं होनी चाहिए.

सुरक्षा व्‍यवस्‍था की समीक्षा करते हुए शुक्रवार को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने कहा कि दोनों राज्‍यों में किसी भी कीमत पर शांति भंग नहीं होनी चाहिए. हाईकोर्ट ने शांति व्‍यवस्‍था बनाए रखने के लिए पुलिस और सेना को कार्रवाई की छूट दे दी है. हाईकोर्ट ने कहा कि पंचकूला में कोई भी नेता नहीं आना चाहिए. किसी भी नेता ने भड़काऊ भाषण दिया तो कार्रवाई की जाएगी. गुरुवार को भी हाईकोर्ट ने हालात पर काबू पाने के लिए सेना को अलर्ट पर रखने के लिए कहा था.

आपको बता दें कि गुरुवार सुबह करीब 9.30 बजे गुरमीत राम रहीम सिरसा से करीब 400 गाड़ियों के काफिले के साथ पंचकूला के लिए रवाना हुए थे. लेकिन अदालत के अंदर दो गाड़ियों को ही जाने की अनुमति दी थी. इसके बाद समर्थकों ने उनके काफिले को कैथल में रोक दिया था. यहां से आधे घंटे बाद काफिला रवाना कर दिया गया था. हालांकि भावुक समर्थकों ने रास्‍ते से हटने से इनकार कर दिया था. बाबा के कुछ निराश समर्थक बेहोश भी हो गए थे.

राज्‍य के संवेदनशील इलाकों में ड्रोन कैमरों से नजर रखी जा रही है. डेरा प्रमुख ने गुरुवार रात पंचकूला में इक्ट्ठा हुए अपने अनुयायियों से अपील की थी कि वे अपने घरों को लौट जाएं. लेकिन बाबा की अपील के बावजूद समर्थक वहां से नहीं हटे. डेरा प्रमुख ने एक वीडियो जारी कर अपने अनुयायियों से कानून का पालन करने के लिए कहा था.

गुरमीत राम रहीम सिंह ने वीडियो अपील में कहा, ‘मैं पहले भी शांति बनाये रखने की अपील कर चुका हूं और (अनुयायियों से) पंचकूला नहीं जाने को कहा था. जो (अनुयायी) पंचकूला में हैं, उन्हें अपने घर लौट जाना चाहिए.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे सुनवाई के लिए अदालत जाना है और मैं पंचकूला जाऊंगा. हमें कानून का पालन करना चाहिए और शांति बनानी चाहिए.’ पंचकूला में करीब डेढ़ लाख अनुयायी एकत्र हैं.

फैसले के एक दिन पहले ही गुरुवार को हरियाणा, पंजाब और चंडीगढ़ में तीन दिन के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई. रेलवे ने पंजाब और हरियाणा जाने वाली कई ट्रेनो को कैंसिल कर दिया गया है. नॉर्दन रेलवे ने अपने ट्विट कर बताया है कि कुल 201 ट्रेनों को रद्द कर दिया. चंडीगढ़ पुलिस ने डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों को चेतावनी दी है कि अगर उन्होंने केंद्र शासित प्रदेश में घुसने की कोशिश की तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

सिरसा में बुलाई गई सेना

गुरमीत राम रहीम के खिलाफ बलात्कार के मामले में अदालत का फैसला आने से पहले ही सिरसा में सेना बुला ली गई है और सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. पंथ के मुख्यालय के बाहर वरिष्ठ पुलिस कर्मियों ने एक फ्लैग मार्च भी किया. पंचकूला में सीबीआई की अदालत में शुक्रवार को डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के मामले में फैसला सुनाया जाएगा. वह खुद अदालत में उपस्थित होंगे.

15 हजार जवान पंजाब-हरियाणा में तैनात

समस्या पैदा होने की आशंका को देखते हुए 15,000 अर्द्धसैनिक जवानों सहित हजारों जवानों को पूरे पंजाब और हरियाणा में संवेदनशील इलाकों में तैनात कर दिया गया है. डेरा प्रमुख के खिलाफ सीबीआई ने पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के निर्देश पर 2002 में यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज किया था. राम रहीम सिंह द्वारा कथित तौर पर दो साध्वियों के यौन उत्पीड़न को लेकर अनाम चिट्ठियों के सामने आने के बाद अदालत ने यह निर्देश दिया था. डेरा प्रमुख ने इन आरोपों का खंडन किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here