PCS (J) में लड़की ने इंटरव्यू पर दिखई ईमानदारी..

0
350
views

लखनऊ. यूपी लोक सेवा आयोग की तरफ से आयोजित PCS(J) 2016 का रिजल्ट बीते दिनों घोषित कर दिया गया। लखीमपुर निवासी पामेला श्रीवास्तव (28) ने पीसीएस-जे में 79वीं रैंक हासिल की है। उसने लखनऊ में हॉस्टल में रहकर पीसीएस जे की प्रिप्रेशन की थी। उसने सेकेण्ड अटेम्प्ट में पीसीएस-जे का इंटरव्यू क्वालीफाई कर लिया। 

सवाल- ईमानदारी किसे कहते हैं, कोई एक्जांपल देकर समझाइए?
जवाब- मैं किसी दुकान पर सब्जी खरीद रही हूं और दुकानदार पैसे लेते टाइम एक सामान के पैसे काउंट करना भूल जाता है। लेकिन मैं अगर उसे ये चीज याद दिलाते हुए पूरे पैसे दे रही हूं। तो ये मेरी ईमानदारी है।

ऐसा बीता था बचपन
पामेला बताती हैं- ”मेरा जन्म 16 जुलाई 1989 को यूपी के लखीमपुर डिस्ट्रिक्ट में हुआ था। पिता प्रमोद कुमार श्रीवास्तव रजिस्ट्री डिपार्टमेंट में सीनियर क्लर्क और मां बृजबाला श्रीवास्तव हाउस वाइफ हैं।”
”घर में मेरे अलावा केवल मम्मी-पापा थे। 2007 में पापा की हार्ट अटैक आने से डेथ हो गई थी। पापा की डेथ के बाद उनके स्थान पर मेरी मां को सेम पोस्ट पर जॉब मिली गई थी।”
”घर पर मैं और मेरी मां, पापा की डेथ के बाद अकेले पड़ गए थे। दोनों को काफी प्रॉब्लम्स फेस करनी पड़ी।”

हायर स्टडीज के लिए लखीमपुर से आ गई लखनऊ
”मैंने हाईस्कूल की पढ़ाई 2005 में लखीमपुर के सेंट डॉन बास्को स्कूल से की थी। तब मेरे 86 परसेंट मार्क्स थे। इंटर की पढ़ाई भी मैंने 2007 में ही उसकी स्कूल से की है। उस टाइम मेरे 76 परसेंट मार्क्स आए थे।”
”इंटर पास करने के बाद मैं हायर स्टडीज की पढ़ाई के लिए लखनऊ चली आई। 2007 में मैंने लखनऊ के आईटी कालेज में ग्रेजुएशन में एडमिशन लिया।”
”2010 में मेरा ग्रेजुएशन कंप्लीट हुआ। तब मेरे 68 परसेंट मार्क्स थे। 2010 में ही एलयू के न्यू कैम्पस में एलएलबी कोर्स में एडमिशन लिया। 2013 में कोर्स कंप्लीट हुआ।”

सेकेंड अटेंप्ट में किया पीसीएस-जे क्वालीफाई
‘मैंने 2012 -13 में पीसीएस-जे की प्रि‍परेशन करना शुरू कर दिया था। मैं ये एग्जाम नहीं दे पाई थी। मैंने 2015 में पीसीएस एग्जाम दिया और 10 मार्क्स से एग्जाम क्वालीफाई नहीं कर पाई।”
”2016-17 में मैंने पीसीएस-जे के दोबारा से लिए एग्जाम दिया और सेकेंड अटेंप्ट में ये एग्जाम क्वालीफाई कर गई।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here