चीनी ने कहा भारत ने लद्दाख में सड़क निर्माण को मंजूरी देकर खुद अपने ही चेहरे पर तमाचा जड़ा……

0
55
views
Chinese soldiers march during a parade commemorating the 70th anniversary of Japan's surrender during World War II in front of Tiananmen Gate in Beijing, Thursday, Sept. 3, 2015. The spectacle involved more than 12,000 troops, 500 pieces of military hardware and 200 aircraft of various types, representing what military officials say is the Chinese military's most cutting-edge technology. (Rolex Dela Pena/Pool Photo via AP)

भारत द्वारा लद्दाख में पांगोंग झील पास सड़क निर्माण के फैसले पर चीन ने कहा है कि सड़क निर्माण को मंजूरी देकर भारत ने अपने मुंह पर थप्पड़ मारा है.

नई दिल्ली: डोकलाम मुद्दे पर भारत और चीन के बीच आपसी संबंधों में आई खटास के बीच आज चीन ने फिर जहर उगला है. भारत द्वारा लद्दाख में पांगोंग झील पास सड़क निर्माण के फैसले पर चीन ने कहा है कि सड़क निर्माण को मंजूरी देकर भारत ने अपने मुंह पर थप्पड़ मारा है.

यह भी पढ़ें:  लद्दाख: लोहे की रॉड लेकर चीनी सेना ने की घुसपैठ, भारतीय जवानों ने रोका तो शुरू कर दी पत्थरबाजी

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चूनींग ने यह प्रतिक्रिया उस फैसले पर दी है, जिसमें भारत के गृह मंत्रालय ने पांगोंग झील से सिर्फ 20 किलोमीटर दूर एक सड़क के निर्माण को मंजूरी दी है, जिनमें से एकतिहाई सीमा के भारत की तरफ है और यह एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण है. चीनी प्रवक्ता ने यह भी चेतावनी दी है कि भारत का यह फैसला सिक्कम में सड़क निर्माण को लेकर भारत के साथ पैदा हुए तनाव को और ज्यादा बढ़ावा देगा.

चीन ने कहा कि चीन की सड़क निर्माण योजना पर भारत गहरी नजर रखे हुए है, जबकि खुद सड़क निर्माण कर रहा है. इससे भारत की नीतियों में विरोधाभास साफ दिखाई देता है कि भारत कहता कुछ और है तथा करता कुछ और.

बता दें कि 15 अगस्त के दिन लद्दाख के जिस इलाके में भारत और चीनी सेना के बीच तनाव पैदा हुआ था, वहां भारत ने सड़क निर्माण का फैसला लिया है. सड़क निर्माण संगठन (बीआरओ) को सड़क निर्माण की जिम्मेदारी दी गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here