उपचुनाव नतीजे : बवाना सीट पर AAP का कब्जा, गोवा की दो सीटें BJP के खाते में

0
38
views
Faridabad : AAP convener Arvind Kejriwal during an election road show in Faridabad on Saturday. PTI Photo (PTI3_22_2014_000048A)

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने कांग्रेस के अपने प्रतिद्वंद्वी को हराकर पणजी विधानसभा उपचुनाव जीत लिया है. वहीं दिल्ली की बवाना सीट पर मतगणना जारी है.

नई दिल्ली: दिल्ली की बवाना सीट, गोवा की पणजी व वालपोई और आंध्र प्रदेश की नंदयाल विधानसभा उपचुनाव के नतीजों पर सबकी नजर है. गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने कांग्रेस के अपने प्रतिद्वंद्वी को हराकर पणजी विधानसभा उपचुनाव जीत लिया है. साथ ही गोवा की वालपोई सीट से बीजेपी के ही विश्वजीत राणे ने जीत दर्ज कर ली है. वहीं अरविंद केजरीवाल के लि भी आज खुशी का दिन है. बवाना सीट से आप उम्मीदवार विजयी हुए हैं.

@1.17 PM : बवाना सीट पर आप की जीत, रामचंद्र 24000 वोटों से जीते

@12.58 PM : बवाना में 25 राउंड की गिनती के बाद आप को 56178, बीजेपी को 33046 और कांग्रेस को 29459 वोट.

@11.22 AM: बवाना उपचुनाव : 14वें राउंड की मतगणना में आप आगे.  AAP – 27647, Congress 22936, BJP- 19542.

@10.55 AM: बवाना 11वें राउंड की मतगणना ; Congress – 20914, AAP- 20785, BJP- 15346

@10.50 AM: नांदयाल विधानसभा सीट पर उपचुनाव में मतगणना के तीसरे दौर के बाद तेदेपा के ब्रह्मानंद रेड्डी 6000 मतों से आगे

@10.45 AM : बवाना में AAP आगे, कांग्रेस दूसरे नंबर पर और बीजेपी तीसरे नंबर पर चल रही है.

@10.30AM: गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी एवं कांग्रेस उम्मीदवार गिरीश चोडानकर को 4,803 मतों से हराकर पणजी विधानसभा उपचुनाव में आज जीत हासिल की.

@10.21 AM: बवाना सीट पर 10वें राउंड के बाद कांग्रेस आगे, आप दूसरे नंबर पर और बीजेपी तीसरे नंबर पर

@10.15 AM: बवाना सीट पर आप आगे चल रही है, वहीं कांग्रेस दूसरे स्थान पर और बीजेपी तीसरे स्थान पर है.

@10. 08 AM:  गोवा की वालपोई सीट बीजेपी के विश्वजीत राणे के खाते में चली गई है. उन्होंने 10,066 वोटों से जीत  दर्ज की.

@9.45 AM: ANI ने सूचना दी थी कि  इस सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार सुरेंद्र कुमार (13182) आगे चल रहे हैं. दूसरे नंबर पर बीजेपी (9745) और तीसरे नंबर पर आप (9499) चल रही है.

@9.30 AM: गोवा के मुख्यमंत्री ने पणजी सीट पर जीत के बाद कहा कि मैं राज्यसभा से अगले हफ्ते इस्तीफा दूंगा

@8.00 AM: बवाना सीट तीन बड़े दलों- आप, बीजेपी और कांग्रेस के उम्मीदवारों की राजनीतिक तकदीर तय करेगी. तीनों ने अनुसूचित जाति श्रेणी के लिए आरक्षित इस विधानसभा सीट को जीतन का विश्वास प्रकट किया है. चुनाव मैदान में 8 उम्मीदवार हैं, लेकिन मुख्य तौर पर आप, भाजपा और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है.

दिल्ली में मतदाताओं की दृष्टि से सबसे बड़े इस विधानसभा क्षेत्र में 23 अगस्त को मतदान हुआ था. वैसे वोट प्रतिशत 45 फीसदी ही रहा था जबकि 2015 के पिछले विधानसभा चुनाव में इस सीट पर 61.83 फीसदी मतदान हुआ था. दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा में आप के पास 65 सीटें हैं, जबकि भाजपा के पास चार हैं. कांग्रेस बवाना सीट जीतकर सदन में अपना खाता खोलने की आस लगाई हुई है. इस साल पहले हुए राजौरी गार्डन उपचुनाव में भाजपा ने आप से यह सीट हथिया ली थी. तब कांग्रेस दूसरे स्थान पर रही थी.

बवाना उपचुनाव के लिए भाजपा ने वेद प्रकाश को चुनाव मैदान में उतारा, जो आप उम्मीदवार के तौर पर 2015 का विधानसभा चुनाव इस सीट से जीते थे, लेकिन उन्होंने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया और वह भाजपा में शामिल हो गए. आप के उम्मीदवार रामचंद्र हैं और कांग्रेस ने बवाना से तीन बार विधायक रहे सुरेंद्र कुमार पर दांव लगाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here