8 नवम्बर नोटबन्दी की सालगिराह पर मोदी शूरू करेंगे पार्ट 2 मेप…

0
298
views
Lucknow: Prime Minister Narendra Modi addresses during Dussehra celebrations at Aishbagh Ram Leela in Lucknow, Uttar Pradesh on Tuesday. PTI Photo by Nand Kumar(PTI10_11_2016_000352B)

नई दिल्ली ,   प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 8 नवंबर को रोडमैप पेश कर सकते हैं, नोटबंदी के एक साल बाद आगे की रणनीति किस तरह हो। 10 नवंबर को पहले ही सभी केंद्रीय मंत्रियों की मीटिंग बुलाई गई है जिसमें करप्शन के खिलाफ अगली जंग के बारे में डिटेल प्लान पेश किया जाएगा। मालूम हो कि विपक्ष की आलोचना को दरिकनार करते हुए पीएम मोदी की अगुआई में केंद्र सरकार ने नोटबंदी के एक साल पूरा होने पर 8 नवंबर को ‘ऐंटी ब्लैक मनी डे’ मनाने का फैसला लिया है। विपक्ष ने इस दिन पूरे देश में विरोध दिवस बनाने का ऐलान किया।

बेनामी सम्पत्ति को बनायेंगे टारगेट

  • सूत्रों के अनुसार पीएम मोदी ने नोटबंदी के बाद अपना अगला टारगेट बेनामी संपत्ति को बनाया है और इसके खिलाफ बड़े पैमाने पर पूरे देश में अभियान चलाया जाएगा। दरअसल नोटबंदी के एक साल बाद सरकार करप्शन के खिलाफ जंग को जारी रखने का मजबूत संकेत देना चाहती है।

बेनामी सम्पत्ति पर हो सकता हैं सरकारी कब्जा

  • सूत्रों के अनुसार प्रस्तावित अभियान में अगर मालिकाना हक के कानूनी सबूत नहीं मिले तो बेनामी संपत्तियों को सरकार अपने कब्जे में ले सकती है। इन बेनामी संपत्तियों को भी गरीबों के लिए किसी योजना से जोड़ा जाएगा जैसे ब्लैक मनी के लिए दोबारा लाई डिस्कलोजर स्कीम के तहत राशि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में डाली गई थी। सरकार को उम्मीद है कि बेनामी संपत्ति के खिलाफ प्रस्तावित अभियान में कई बड़े सफेदपोश नेताओं पर गाज भी गिर सकती है।

करप्शन होगा 2019 का मेन मुददा

    • मोदी सरकार 2019 के आम चुनाव तक इस मुद्दे को जिंदा रखना चाहती है और करप्शन के मुद्दे पर ही वह चुनाव लड़ने की रणनीति बना चुकी है। सरकार का मानना है कि एक साल बाद जब नोटबंदी के बाद हालात सुधर चुके हैं तो दूसरा अभियान शुरू होने से इसका सकारात्मक संदेश खासकर गरीबों के बीच जा सकता है कि काला धन रखने वाले अमीरों के खिलाफ सख्त अभियान जारी है। इसके अलावा करप्शन को रोकने के लिए बने इस लंबित बिल या पहल पर पीएम नरेन्द्र मोदी ठोस और निर्णायक कदम उठा सकते हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here