सिरसा में राम रहीम के ठिकाने में घुसी सेना, अंदर सैकड़ों समर्थक होने की आशंका…………..  

0
74
views

हाईकोर्ट ने पंचकूला में सभी ज्युडीशियल ऑफिसर्स की सिक्युरिटी के इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।
  • सिरसा में राम रहीम के ठिकाने में घुसी सेना, अंदर सैकड़ों समर्थक होने की आशंका

    सेना डेरा के अंदर से राम रहीम के समर्थकों को बाहर निकालकर तलाशी लेगी।
    चंडीगढ़. सिरसा में गुरमीत राम रहीम के डेरे में आर्मी दाखिल हो गई है। यहां उसके सैकड़ों समर्थकों के मौजूद होने की आशंका है। आर्मी के साथ रैपिड एक्शन फोर्स और पुलिस के जवान भी हैं। यहां से राम रहीम के समर्थकों काे बाहर निकालकर डेरा की तलाशी ली जाएगी। उधर, इस मामले में सिक्युरिटी से जुड़े एक मामले में पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में दायर की गई पीआईएल पर शनिवार को भी सुनवाई होगी। शुक्रवार को राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद पीआईएल पर सुनवाई हुई थी। तब हाईकोर्ट ने कहा था कि डेरामुखी का स्टेटस बदल गया है और स्टेट अपनी सोच बदले। हाईकोर्ट इस मामले में तीन दिन से सुनवाई कर रहा है। बता दें कि राम रहीम पर रेप मामले में सीबीआई कोर्ट के फैसले से पंचकूला में भारी तादाद में उनके समर्थक जुटने लगे थे। ऐसे में हालात बिगड़ने की आशंका में यह पीआईएल लगाई गई थी। डेरा चीफ को सीबीआई कोर्ट ने शुक्रवार को रेप केस में दोषी करार दिया। इसके बाद हरियाणा-पंजाब समेत छह राज्यों में फैली हिंसा में 32 लोगों की मौत हो चुकी है। 250 से ज्यादा जख्मी हुए हैं। सजा का एलान 28 अगस्त को किया जाएगा। अब कोई रिस्क नहीं लेना चाहते…
    – एक्टिंग चीफ जस्टिस एसएस सारों, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस अवनीश झिंगन की बेंच ने कहा कि वे जाट आंदोलन के दौरान हरियाणा में पुलिस के इंतजामों का आलम देख चुके हैं। अब कोई रिस्क नहीं लेना चाहते। ऐसे में पंचकूला में सभी ज्युडीशियल ऑफिसर्स को पैरा मिलिट्री फोर्स मुहैया कराई जाए। कोर्ट ने कहा कि राउंड दि क्लॉक यह सिक्युरिटी जारी रहेगी।
    डेरा चीफ का स्टेटस बदल गया है
    – शुक्रवार को डेरा चीफ राम रहीम को रेप का दोषी करार दिए जाने के बाद हुई हिंसा के बाद 4 बजे पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई शुरू हुई तो जस्टिस एसएस सारों, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस अवनीश झिंगन की फुल बेंच ने कहा कि अब डेरा चीफ का स्टेटस बदल गया है। लिहाजा स्टेट अपनी सोच बदले।
    ड्यूटी से भागने वाले पुलिस अफसरों के नाम दें
    – सुनवाई के दौरान कुछ वकीलों ने कहा कि पुलिसवाले पैरा मिलिट्री फोर्स के पहुंचने के बाद मौके से भागने लगे थे। इस पर हाईकोर्ट ने हरियाणा के एडवोकेट जनरल बलदेव राज महाजन से सवाल किया कि इस कोताही के लिए कौन जिम्मेदार है? जिम्मेदार अफसरों पर जरूरी कार्रवाई की जाए।
    – हाईकोर्ट ने कहा कि एडवोकेट जनरल शनिवार को सुनवाई के दौरान अपना पक्ष रखें और बताएं कि क्या कोई पुलिस अफसर मौके से भागा था। अगर हां तो उसका नाम दिया जाए।
    – हाईकोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि पंचकूला में कर्फ्यू के चलते अब हाईकोर्ट में मौजूद वकीलों और कोर्ट स्टाफ को सुरक्षित उनके घर
    पहुंचाने का इंतजाम किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here