हो जाएं सावधान, सैन्य कार्रवाई से पहले भारत पर पानी से हमला कर सकता है चीन!

0
70
views

भारत और चीन के बीच डोकलाम को लेकर विवाद गहरा होता जा रहा है. दोनों देशों की सेनाएं डोकलाम में डटी हुई हैं, तो वहीं चीन की ओर से लगातार भारत को युद्ध की धमकी मिल रही है. लेकिन चीन भारत पर सैन्य हमला किए बिना ही हमें बड़ा नुकसान पहुंचा सकता है. चीन भारत पर सैन्य हमले की बजाय पानी के जरिए हमला कर सकता है. जिससे सिर्फ बॉर्डर पर नहीं बल्कि कई राज्यों में तबाही मच सकती है.

कैसे हमला करेगा चीन?

चीन की भौगोलिक स्थिति देखें तो वह भारत से ऊंचे स्थान पर है. वहीं चीन के पास कई बांध हैं. भारत में ऐसी कई बड़ी नदी हैं जो चीन से निकलकर भारत में आती हैं, जिनमें से ब्रह्मपुत्र नदी सबसे बड़ी नदी है. अगर चीन चाहे तो कुछ दिनों तक पानी बांध पर रोककर छोड़ सकता है जिससे भारत में तबाही का मंजर हो सकता है.

सिर्फ ब्रह्मपुत्र नदी ही नहीं बल्कि चीन से सतलुज नदी भी निकलती है. सतलुज नदी चीन के कब्जे वाले तिब्बत से निकलकर हिमाचल प्रदेश और पंजाब में आती है. वहीं तिब्बत से निकलकर सिंधु नदी लद्दाख से होते हुए निकलती है और अरब सागर में मिलती है. साफ है कि चीन के पास तीन ऐसी बड़ी नदी हैं जो भारत में तबाही का कारण बन सकती हैं.

किन राज्यों पर पड़ेगा सीधा असर –

ब्रह्मपुत्र नदी – असम, अरुणाचल प्रदेश

सतलुज नदी – हिमाचल प्रदेश,

पंजाब सिंधु नदी – जम्मू-कश्मीर और लद्दाख

गौरतलब है कि 2012 में भी इसी कारण पूर्वोत्तर में बाढ़ की स्थिति हो गई थी, जिससे काफी तबाही मची थी. उस दौरान पानी छोड़ने से पहले चीन ने भारत को किसी भी प्रकार की सूचना नहीं दी थी. डोकलाम के चलते बिगड़े हालातडोकलाम को लेकर चीन की उकसावे भरी धमकियां बदस्तूर जारी हैं.

चीन के एक प्रमुख अखबार में प्रकाशित संपादकीय में भारत को वक्त रहते हालात सुधारने की नसीहत दी गई है.चाइना डेली अखबार के संपादकीय में लिखा गया था कि चीन और भारत के बीच युद्ध का काउंटडाउन शुरू हो गया है. भारत को अब जल्द इस दिशा में कोई कदम उठा लेना चाहिए, क्योंकि शांतिपूर्ण समाधान की संभावनाएं खत्म होती जा रही हैं.

डोकलाम विवाद पर चीन के साथ पिछले दो महीने से चल रही रस्साकशी के बीच भारत ने सिक्किम, अरुणाचल से लगी चीन सीमा पर सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है. बीते शुक्रवार को वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे में जानकारी दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here