रोहिंग्या के लिए प्रार्थना सभा कराने पर BJP नेता सस्पेंड होने पर क्या किया मोदी ने…

0
149
views

असम में रोहिंग्या मुसलमानों के लिए प्रार्थना सभा कराने पर बीजेपी ने महिला नेता को सस्पेंड कर दिया।

गुवाहटी.असम में रोहिंग्या मुसलमानों के लिए प्रार्थना सभा कराने पर बीजेपी ने महिला नेता को सस्पेंड कर दिया। उन्हें शोकॉज नोटिस भी जारी किया गया है। बेनजीर अरफान भारतीय जनता मजदूर मोर्चा की चीफ एक्जीक्यूटिव थीं। उन पर आरोप है कि दूसरे संगठन के प्रदर्शन के लिए बेनजीर ने बीजेपी के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया। इसके लिए पार्टी के सीनियर नेताओं से पूछा भी नहीं। राज्य में तीन तलाक खिलाफ कैंपेन चलाने वालीं बेनजीर ने कहा कि ये सिर्फ एक प्रार्थना सभा थी। मैं कभी बीजेपी में वापस नहीं लौटूंगी। नरेंद्र मोदी मेरे साथ हुई नाइंसाफी पर कार्रवाई करें। बता दें कि केंद्र सरकार ने भारत में अवैध तरीके से रहने वाले 40 हजार रोहिंग्या को वापस भेजने की बात कही है। क्या ईमानदारी का यही ईनाम है…
– बेनजीर ने एक अंग्रेजी अखबार से कहा, ”अल्पसंख्यकों को एकजुट करने के लिए एक एनजीओ ने इवेंट कराया था। इसमें म्यांमार के रोहिंग्या मुसलमानों के लिए प्रार्थना की गई। पर बीजेपी लीडरशिप को लगता है कि ये भारत में अवैध तौर पर रहने वाले रोहिंग्या के लिए लॉबिंग की जा रही है। इवेंट के एक दिन पहले 16 सितंबर को मुझे सस्पेंड कर दिया गया।”
– ”मैंने ईमानदारी से बीजेपी के लिए काम किया। क्या यही इसका ईनाम है। स्टेट बीजेपी में पुरुषों की चलती है। महिला वर्कर्स को दरकिनार कर उन्हें ही जिम्मेदारियां दी जाती हैं।”
– बता दें कि बेनजीर ने 2012 में बीजेपी ज्वाइन की थी। पिछले साल जनिया सीट से असेंबली इलेक्शन लड़ा था, लेकिन चुनाव जीत नहीं पाईं। कैंपने के दौरान नरेंद्र मोदी के साथ मंच पर भी नजर आई थीं।
नाइंसाफी के लिए मोदी क्या कार्रवाई करेंगे?
– बेनजीर ने आगे कहा, ”असम के बीजेपी प्रेसिडेंट रंजीत दास ही पार्टी के लिए सबसे बड़ी परेशानी हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में उनके करप्शन में शामिल होने की खबरें आईं। असम में हिंदू-मुस्लिम के बीच रिश्ते दिल से जुड़े हैं, लेकिन बीजेपी की वजह से इनमें खटास आ रही है।”
– ”नरेंद्र मोदी ने महिलाओं को सशक्त करने के लिए कई स्कीम शुरू की हैं। मैं उनसे पूछना चाहती हूं कि मेरे साथ हुई नाइंसाफी के लिए पीएम बीजेपी लीडरशिप के खिलाफ क्या कार्रवाई करेंगे। मैंने नोटिस का जवाब दे दिया है। अगर सस्पेंशन हटाया भी जाता है तो दोबारा बीजेपी में नहीं जाऊंगी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here