मोदी सरकार को बताइए बेनामी प्रॉपर्टी की डिटेल, मिलेगा 1 करोड़ रुपए का इनाम…

0
155
views

  बेनामी संपत्ति के मामले में पहले से गंभीर मोदी सरकार एक नया कदम उठाने जा रही है। इसके तहत अगर आप सरकारी अधिकारियों को बेनामी संपत्ति की सीक्रेट जानकारी देते हैं तो आपको 1 करोड़ रुपए का इनाम मिल सकता है। केंद्र सरकार के आधिकारी इस योजना पर काम कर रहे हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, इस इनिशिएटिव की घोषणा अगले महीने की जा सकती है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स (CBDT) के अधि‍कारी ने बताया कि बेनामी संपत्ति की जांच कर रही है जांच एजेंसियों को जानकारी मुहैया कराने वाले शख्स को 1 करोड़ रुपए का इनाम दिया जाएगा। अधिकारी ने नाम का खुलासा नहीं करने की शर्त पर बताया है सूचना देने वाले शख्स को 1 करोड़ रुपए का इनाम दिया जाएगा।  यह अधिकारी उस टीम का हिस्‍सा है जो इस पूरी स्‍कीम पर काम कर रही है। अधिकारी के मुताबिक, इनाम की मिनिमम रकम 15 लाख रुपए रखी गई है। साथ ही सरकार खबर देने वालों की जानकारी भी गुप्‍त रखेगी, ताकि उनकी सुरक्षा को किसी तरह का खतरा नहीं पैदा हो।

खबर पुख्‍ता हो तभी मिलेगी रकम

अधिकारी ने बताया कि सूचना पुख्ता होनी चाहिए। उसकी जानकारी गुप्त रखी जाएगी। बता दें कि बेनामी संपत्ति कानून को पिछले साल ही संसद में पारित किया गया था। हालांकि इसमें किसी को इनाम देने का प्रावधान नहीं रखा गया है। बेनामी संपत्ति रखने वालों का पता लगाना आयकर और प्रवर्तन निदेशालय के लिए हमेशा से ही टेढ़ी खीर रहा है। CBDT से जुड़े अधिकारी का मानना है कि सीक्रेट इन्‍फॉर्मेशन के आधार पर बेनामी संपत्ति रखने वालों को पकड़ना आसान हो जाएगा और इससे पूरे देश में अभियान चलाया जा सकेगा।

पहले भी मिलता रहा है ईनाम

अधिकारी के अनुसार इनकम टैक्स डिपार्टमेंट, एनफोर्समेंट डारेक्टोरेट (ED) और डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस हमेशा से ही सूचना देने वालों को इनाम देता रहा है। लांकि अब तक यह इनाम कुछ खास नहीं रहता था। ऐसे में अब इससे जल्दी और आसानी से बेनामी संपत्ति के बारे में जानकारी मिल पाएगी। यह स्‍कीम फिलहाल, वित्त वित्त मंत्रालय के पास है। वित्त मंत्रालय और वित्त मंत्री की स‍हमति के बाद इसे सीबीडीटी द्वारा लागू किया जाएगा। अक्टूबर या नंवबर में इसकी घोषणा हो सकती है।

लालू और उनका परिवार आ चुका है बेनामी कानून की जद में

बिहार के पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव और उनका परिवार इस कानून की जद में आने वाले शुरुआती लोगों में से एक बताए जा रहे हैं। लालू की फैमिली से जुड़े कई ठिकानों पर ईडी और टैक्‍स अधिकारी छापेमारी कर चुके हैं। यही नहीं इसस मामले में एफाआईआर भी र्ज कराई जा जा चुकी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here