भारतीय मूल की बेटी ने बनाया रेप से सुरक्षा का उपाय…..

0
91
views

भारतीय मूल की मनीषा मोहन ने बनाया रेप से बचने वाला सेंसर यह सेंसर महिलाओं को रेप से बचने में काफी कागार साबित हो सकता है। यह सेंसर उन गतिविधियों को भांप लेता हैं जब कोई जबर्दस्ती शरीर के कपडों को खींचता हैं। यदि कोई महिला इस सेंसर को अपने कपडों पर लगाती हैं तो उसके रेप से बचने के चान्स बढ जाते हैं यह सेंसर एक स्मार्ट फोन के एप से जुडा होता है। सेंसर का एक वीडियो भी एमआईटी मीडिया लैब की तरफ से यू.ट्यूब पर अपलोड किया गया । जिसे 2 लोग से ज्यादा लोग देख चुके हैं, यह सेंसर दो तरीके से काम करता हैं। पैसिव और एकटवि मोड में।

1. पैसिव मोड में यह मैनुअली काम करता है, लड़की इसका बटन दबाकर आसपास के लोगों को अलर्ट कर सकती है, अलर्ट भेजने पर तेज अलार्म बजेगा या दोस्तों को कॉल लग जाएगी, ऐसा इसलिए होगा क्योंकि ये ब्लूटूथ स्मार्टफोन ऐप से जुड़ा होता है,
एक्टिव मोड में यह सेंसर बाहरी सिग्नल्स के जरिये खतरे का अंदाजा लगाता है, अगर कोई जबरदस्ती कपड़े उतारने की कोशिश कर रहा है तो यह सेंसर उसके स्मार्टफोन पर एक मैसेज भेजता है, जिससे सेंसर यह तय करेगा कि लड़की होश में है या नहीं, अगर मैसेज का जवाब 30 सेकेंड में नहीं आता है तो आसपास के लोगों को अलर्ट करने के लिए फोन तेज आवाज करने लगता है, अगर यूजर इस अलार्म को 20 सेकेंड के अंदर बंद नहीं करताए तो ऐप यह मान लेता है कि वह मुसीबत में है, इसके बाद वह उसके परिवार और दोस्तों के पास डिस्ट्रेस सिग्नल भेजना शुरू कर देता है, जिसमें पीड़िता की लोकेशन का पता चलता है, मनीषा ने कहा कि लड़कियों को घर में कैद रखने से अच्छा है कि उन्हें सुरक्षा प्रदान की जाए उन्होंने कहा कि चेन्नई में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करते हुए जो अनुभव उन्हें हुए, उसके बाद ही उसे यह ख्याल आया कि एप के जरिये न केवल महिलाओं बल्कि स्कूल जाने वाली छात्राओं, शारीरिक रूप से विकलांगों को भी रेप से बचाया जा सकता है, मोहन ने कहा कि हमें बॉडी गार्ड की जरूरत नहीं है, मुझे लगता है कि हमारे पास खुद की सुरक्षा करने की क्षमता होनी चाहिए

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here