बाघों पर संकट, छत्तीसगढ़ में हाईकोर्ट ने मांगा जवाब…

0
92
views

बाघों पर संकट, छत्तीसगढ़ में हाईकोर्ट ने मांगा जवाबछत्तीस गढ हाईकोर्ट ने बाघों के शिकार को लेकर एक्शन लिया हैं जंगलों में हो रहे बाघो में निरन्तर कमी होने से कोर्ट  ने शक्त रवईया अपनाते हुए नोटिस जारी किया हैं। आखिर प्रदेश में बाघो की संख्या निरन्तर कम क्यो हो रही हैं। सरकार को 3 सप्ताह में इसका जवाब देन हैं। कोर्ट सरकार की इस लापरवाही को अब नहीं देखने वाली हैं। प्रदेश में 3 बाघों की मौत अचानक क्यों हो गयी हैं एवं वन विभाग द्वारा भी इसकी रिपोर्ट सही तौर पर नही दी गयी हैं। सरकार ने कोर्ट को इसका अभी तक कोई जवाब नहीं दिया हैं। बीते दो सालो में राज्य के कई इलाकों से बाघों के शिकार की खबरे सुर्ख़ियों में रही खासतौर पर गर्मी के मौसम में शिकारियों के जंगलों में सक्रिय रहने के कई प्रमाण भी सामने आये, ऐसा नहीं है कि वन विभाग का मौजूदा सेटअप वन्य प्राणियों की रक्षा के लिए दक्ष नहीं है, लेकिन कभी भी उसने उनके संरक्षण के लिए दिलचस्पी नहीं दिखाई सरकारी रिकॉर्ड में वन्य प्राणी संरक्षण के कागजी प्रमाण तो दर्ज कर दिए गए, लेकिन अफसरों ने जंगलों का रुख  ही नहीं किया, नतीजतन बाघों की जान पर बन आई,  लिहाजा अब हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को तीन सप्ताह के भीतर बाघों की लिखित जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here