ताजमहल पर इतिहास को लेकर शुरू हुआ घमासान…

0
143
views

आगरा— दुनियाभर में प्रेम के अद्वितीय प्रतीक ताजमहल को लेकर शुरू हुआ विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा के फायरब्रांड नेता और विधायक संगीत सोम के विवादित बयान पर अब एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने पलटवार किया है। ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि लाल किले को भी ‘गद्दारों’ ने बनाया था, तो क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किले पर तिरंगा फहराना छोड़ देंगे? क्या मोदी और योगी घरेलू और विदेशी पर्यटकों से कहेंगे कि वे ताजमहल को देखने न आएं? यहां तक कि दिल्ली में हैदराबाद हाउस को ‘गद्दारों’ ने ही बनाया था। क्या मोदी यहां विदेशी मेहमानों की मेजबानी छोड़ देंगे? दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के पर्यटन स्थलों की सूची से ताजमहल के नाम को हटाने पर सरधाना से भाजपा विधायक संगीत सोम ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि ताजमहल भारतीय संस्कृति पर एक धब्बा है। गद्दारों के बनाए ताजमहल को इतिहास में जगह नहीं मिलनी चाहिए। उन्होंने इतिहास को गलत तरीके से पेश करते हुए यह भी कहा कि 17वीं शताब्दी में संगमरमर की यह इमारत बनवाने वाले शाहजहां ने अपने पिता को जेल में डाल दिया था और वह देश से हिंदुओं का नामोनिशां मिटा देना चाहता था। अगर ऐसे लोग हमारे इतिहास का हिस्सा हैं तो यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि मैं आपको सुनिश्चित करता हूं कि हम इस इतिहास को बदल देंगे। उधर, भाजपा प्रवक्ता नलिन कोहली ने भी ताजमहल पर दिए गए संगीत सोम के बयान को उनका निजी राय बताया है। कोहली ने कहा है कि तामजहल भारत की सांस्कृतिक धरोहर है। यूपी सरकार में मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने भी कहा कि यह किसी का व्यक्तिगत विचार हो सकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मेरा मानना है कि ताजमहल हमारी सांस्कृतिक विरासत का हिस्सा है।

इन कारणों से हो रहा हैं आज का युवा मानसिक रोगी…

राम रहीम को भगाने की साजिश रचने वाले हेड कांस्टेेबल सहित 4 गिरफ्तार.. 

महिलाओं में पायल पहनने की खास दिलचस्पी का क्या हैं कारण, जानकर दिल खुश हो जाएगा 

गर्भवस्था की इस उम्र में होते हैं कुछ नुकसान और फायदे…. 

अपने जीवन साथी का मजाक उडाने से हो सकते हैं ये नुकसान ….

 

0+-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here