टीचर ने ‘पीरियड्स’ को लेकर क्लास में फटकारा, छात्रा ने की आत्महत्या

0
119
views

दरअसल, कक्षा में टीचर ने कथित तौर पर लड़की के पीरियड्स को लेकर फटकारा था. मासिक धर्म के दौरान लड़की के कपड़े गंदे हो गए थे, जिसके बाद टीचर ने लड़की को डांटा था.

तमिलनाडु के तिरुनेलवेली में एक नाबालिग लड़की ने टीचर की हरकत से परेशान होकर आत्महत्या कर ली. दरअसल, कक्षा में टीचर ने कथित तौर पर लड़की को पीरियड्स को लेकर फटकारा था. जानकारी के मुताबिक- मासिक धर्म के दौरान लड़की के कपड़े गंदे हो गए थे, जिसके बाद टीचर ने छात्रा को डांटा था. वह इतनी दुखी हुई कि इमारत से कूदकर जान दे दी. तिरुनेलवेली के कलेक्टर ने जांच के आदेश दिए हैं. आत्महत्या का मामला भी दर्ज कर लिया गया है. लड़की ने सूसाइड नोट में टीचर की यातना का जिक्र किया है.

मासिक धर्म को लेकर स्कूल में प्रताड़ित हुई बच्ची की आत्महत्या को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं. हाल ही में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि जहां मासिक धर्म जैसे विषयों पर दबे स्वर में चर्चा होती है, ऐसे में इस विषय पर लड़कियों से ज्यादा लड़कों को संवेदनशील बनाना समय की जरूरत है.उन्होंने कहा, ‘स्कूल चाहरदीवारी वाली जगह बन गए हैं जहां बच्चे केवल शिक्षा ग्रहण करते हैं, लेकिन विद्यालय ऐसे मुद्दों को सामान्य बनाने में अहम भूमिका निभा सकते हैं जो पिछले कुछ सालों में समाज में बातचीत के लिहाज से वर्जित से हो गए हैं.’

कुछ दिन पहले ही मुंबई की डिजिटल मीडिया कंपनी ने महिलाओं के पीरियड के पहले दिन छुट्टी की घोषणा की थी. दरअसल, पीरियड के चार से पांच दिन महिलाओं के लिए काफी पीड़ादायक होते हैं. महिला कर्मचारियों के पास यह सुविधा होगी कि वह पीरियड के पहले दिन छुट्टी ले सकें, उनसे कोई सवाल नहीं पूछा जाएगा.  कल्चर मशीन नाम की इस कंपनी ने पहल करते हुए अपनी महिला कर्मचारियों के लिए यह पॉलिसी निकाली. इस कंपनी में कुल 75 महिलाएं हैं, जिनके लिए कंपनी ने फर्स्ट डे ऑफ लीव पॉलिसी निकाली थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here