जापान के भारतीय निवासियों के लिए शुरू होगी कूल बॉक्स फूड सर्विस- मोदी..

0
81
views

पहले दिन मेगा रोड शो के बाद गुरुवार का दिन दोनों देशों के रिश्तों को मजबूत करने के लिए अहम है।

1) कोनीचीवा.. गुड ऑफ्टरनून
– नरेंद्र मोदी ने अपनी स्पीच की शुरुआत जापानी भाषा में की। उन्होंने कहा, “कोनीचीवा (गुड आफ्टरनून)। मैं शिंजो आबे का स्वागत करता हूं। मुझे खुशी है कि शिंजो का भारत में स्वागत करने का अवसर मिला है। आबे और मैं कई बार अंतराराष्ट्रीय सम्मेलनों में मिले हैं। भारत में उनका स्वागत मेरे लिए विशेष हर्ष का विषय है।’
2) हाईस्पीड ट्रेन भविष्य की लाइफ लाइन
– मोदी ने कहा, “कल शाम साबरमती आश्रम और आज दांडी कुटीर गए और बहुत विस्तार से महात्मा गांधी के जीवन को समझने का प्रयास किया। हमने जापान के सहयोग से बनाए जा रहे मुंबई-अहमदाबाद हाईस्पीड रेल प्रोजेक्ट का भूमि पूजन किया। ये बड़ा कदम है। ये हाई स्पीड रेल की शुरुआत नहीं है। भविष्य की जरूरतों को देखते हुए इस रेल टेक्नोलॉजी को नए भारत की लाइफ लाइन के तौर पर देखता हूं।’
3) जापान का निवेश 80% बढ़ा
– “हमारी स्पेशल स्ट्रेटजिक और ग्लोबल पार्टनरशिप का दायरा बढ़ा है। जापान यात्रा के समय परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण प्रयोग के लिए समझौता किया था। इसके लिए जापान के जनमानस, सांसद और प्रधानमंत्री आबे शाम का आभार प्रकट करता हूं। क्लीन एनर्जी और क्लाइमेट चेंज के लिए इस समझौते ने नया अध्याय जोड़ा है। 2016-17 में भारत में जापान ने 4.7 बिलियन डॉलर यानी करीब 3000 करोड़ का निवेश किया है। जापान का निवेश 80% बढ़ा है। जापान भारत में तीसरा बड़ा निवेशक बना है। भारत के आर्थिक विकास और सुनहरे कल के लिए जापान में आशावादी माहौल है।’
4) कूल बॉक्स सर्विस से जपानी फूड मंगा सकेंगे
– मोदी ने कहा, “आने वाले समय में भारत में रहने वाले जापानी लोगों की संख्या भी बढ़ेगी। हमने जापान के नागरिकों के लिए वीजा और अराइवल की सुविधा दे रखी है और अब हम इंडिया पोस्ट और जापान पोस्ट के सहयोग से कूल बॉक्स सर्विस शुरू करेंगें। इससे भारत में रह रहे जापानी लोग अपना पसंदीदा भोजन मंगा सकते हैं।
5) भारत में रेस्टोरेंट खोलें जापानी, फायदा होगा
– “मेरा जापानी समुदाय से अनुरोध है कि वे भारत में जापानी रेस्टोरेंट खोलें। आज भारत बदलाव की राह पर चल रहा है। बिजनेस, स्किल इंडिया, टैक्स रिफॉर्म, मेक इन इंडिया के जरिए भारत ट्रांसफार्म हो रहा है। जापान के लिए ये बड़ा मौका है। मुझे खुशी है कि जापान की कई कंपनियां हमारी सरकार के फ्लैगशिप कार्यक्रमों से जुड़ी हैं। आज शाम हमारी मीटिंग में इसके लाभ देखने को मिलेगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here