क्या गडकरी की चेतावनी से बंद हो जाएंगी पेट्रोल-डीजल की कारें…?

0
84
views

पेट्रोल-डीज़ल से चलने वाली गाड़ी बनाने वाली कंपनियों को केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने दो टूक चेतावनी दी है.

नई दिल्ली: पेट्रोल व डीजल जैस पारंपरिक ईंधन से चलने वाले वाहन बनाने वाली कंपनियों से केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दो टूक कह दिया है कि वे वै​कल्पिक र्इंधन अपनाएं अन्यथा परिणाम भुगतने को तैयार रहें. भविष्य पेट्रोल व डीजल का नहीं है बल्कि वैकल्पिक ईंधन का है. सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि प्रदूषण नियंत्रण और वाहन आयात पर लगाम लगाने के अपने प्रयासों के तहत वह इसके लिए प्रतिबद्ध हैं. उन्होंने यह भी कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों पर एक कैबिनेट नोट तैयार है जिसमें चार्जिंग स्टेशनों पर ध्यान दिया जाएगा.

ये हैं पांच प्रमुख कारण, जिनसे पेट्रोल-डीज़ल कारों का भविष्य अधर में दिख रहा है
  1. पेट्रोल-डीज़ल से चलने वाली गाड़ी बनाने वाली कंपनियों को केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने दो टूक चेतावनी दी है.
  2. गडकरी ने कार कंपनियों को वैकल्पिक ईंधन से चलने वाली कार बनाने का अल्टीमेटम जारी किया है. ऐसा न करने पर कार कंपनियों को परिणाम भुगतने की चेतावनी दी है.
  3. गडकरी ने कहा कि भले ही आपको ये पसंद हो या न हो, मैं ऐसा करने जा रहा हूं. मैं पेट्रोल-डीज़ल से चलने वाली गाड़ियों का बैंड बजा दूंगा. इन पर बुलडोजर चलवा दूंगा. कार कंपनियों को चेताते हुए गडकरी ने कहा कि जो सरकार का समर्थन कर रहे हैं वे फ़ायदे में रहेंगे और जो नोट छापने में लगे हैं उन्हें परेशानी होगी.
  4. गडकरी ने कहा कि हमारी सरकार प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए प्रतिबद्ध है. जल्द ही सरकार इलेक्ट्रॉनिक वाहनों पर नीति बनाएगी. इसके लिए कैबिनेट नोट भी तैयार किया जा रहा है. इलेक्ट्रिक कार चार्जिंग स्टेशनों की भी हम योजना बना रहे हैं.
  5. इस तरह से प्रदूषण भी कम होगा. यह सस्ता और प्रदूषण फ्री विकल्प है. मैं यह करने जा रहा हूं चाहे यह आपको पसंद हो या न हो. इसके लिए मैं आपसे कुछ पूछने वाला नहीं हूं.मेरा इरादा बहुत साफ है.इसलिए नम्रतापूर्वक निवेदन करना चाहता हूं कि आप रिसर्च करके बदलेंगे तो फायदे में रहेंगे और जो बदलने के बजाय सिर्फ ज्ञानार्जन करेंगे वो मुश्किल में आ जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here