उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को छात्र नेता ने कहा अनपढ़ व जाहिल..

0
170
views

इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ का चुनाव जीतकर सोमवार को अखिलेश के दरबार में पहुंचे विश्वविद्यालय के पूर्व उपाध्यक्ष और सपा नेता आदिल हमजा ने अखिलेश यादव की मौजूदगी में भाजपा की सरकारों को उनकी नीतियों के लिए कटघरे में खड़ा किया।  एक छात्र नेता ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के सामने ही उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अनपढ़-जाहिल की संज्ञा दे डाली। इस पर अखिलेश ने तुरंत उसे डांटा और वहीं रोकते हुए अपनी बात समाप्त करने का निर्देश दिया। तमाम छात्र नौजवानों और मीडिया की मौजूदगी में मौके की नजाकत को देखते हुए अखिलेश ने कहा, “मैं उसके शब्द वापस ले रहा हूं।”

दरअसल, सोमवार को पार्टी मुख्यालय पर इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव जीतने वाले समाजवादी छात्र सभा के पदाधिकारियों का सम्मान किया जा रहा था। सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सभी विजेताओं को बधाई दी और स्वयं उनकी बातें सुनी। इस दौरान सभी विजेताओं ने अपने विचार व्यक्त करते हुए अखिलेश यादव और पार्टी के प्रति आभार व्यक्त किया और  सभी विजेताओं ने अपने विचार व्यक्त करते हुए अखिलेश यादव और पार्टी के प्रति आभार व्यक्त किया और अखिलेश यादव को इलाहाबाद विश्वविद्यालय आने का निमंत्रण दिया। इलाहाबाद छात्रसंघ चुनाव में जीत दर्ज करने वाले अवनीश यादव,चंद्रशेखर चौधरी, भरत सिंह, अवधेश पटेल को आज पार्टी कार्यालय में सम्मानित किया गया।

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के पूर्व उपाध्यक्ष और सपा नेता आदिल हमजा ने अखिलेश यादव के मंच पर मौजूद रहते समय सीएम योगी आदित्यनाथ को अनपढ़ और जाहिल कहा था। इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के पूर्व उपाध्यक्ष आदिल हमजा ने सीएम योगी को अनपढ़, जाहिल बताया। सपा नेता ने ये टिप्पणी राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव और वहां मौजूद लोगो के सामने की।

इस पर अखिलेश यादव ने कहा कि मैं उस नौजवान के शब्द वापस लेता हूँ जिसने सीएम योगी आदित्यनाथ को कुछ बोला। इस दौरान छात्र सभा के पदाधिकारी ने मंच से प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर अनैतिक बयानबाजी की तो अखिलेश यादव ने तुरंत टोकते हुए उन्हें अपनी बात खत्म करने को कह दिया।

बाद में मीडिया को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि मैं उस नौजवान के शब्द वापस लेता हूं। जिससे मुख्यमंत्री के बारे में गलत शब्द निकल गए। मैं यह बात भी कह सकता हूं कि सरकार के लोग किस पैमाने पर अन्याय कर रहे हैं।

उन्होंने लखनऊ में एक बड़े छात्र सम्मेलन की भी घोषण की। आज समाजवादी पार्टी से जुड़े बड़ी संख्या में नौजवानों को संबोधित करते हुए उन्होंने का कि देश में साम्प्रदायिक ताकतों को रोकने का काम अगर कोई कर सकता है तो यही नौजवान करेंगे।

अयोध्या में दिवाली पर हुए कार्यक्रम पर एक सवाल के जवाब में अखिलेश ने का कि पुष्पक विमान से जो राम सीता लाए थे, हमको भी उन्हीं के साथ बैठकर चाय पीने का मौका दें।

आगरा एक्सप्रेस-वे पर होने वाले एयर शो पर बोलते हुए कहा कि अगर हमारी सरकार होती तो सबसे पहले मेरी कुर्सी वहां होती। देश का सबसे बेहतरीन एक्सप्रेस-वे हमने बनवाया, जिसका प्रयोग सेना कभी भी इमरजेंसी के वक्त कर सकती है। लेकिन मौजूदा सरकार के लिए यह राष्ट्रवाद नहीं है।

ये भी पढें   मोदी सरकार को गुजरात चुनाव में GST ने खींचा मैदान में..

ये भी पढें   बुजुर्गो में अकेलेपन और असुरक्षा का बढता प्रभाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here